डाउनलोड मुद्रण

अ+   अ-

कविता

दुखड़ा
प्रयाग शुक्ल


एक शब्द बहुत दिनों बाद
याद आया - 'दुखड़ा'
वह भूल चुका हूँ
लेकिन अक्सर रगों में
वह आता है दुख-सा


End Text   End Text    End Text

हिंदी समय में प्रयाग शुक्ल की रचनाएँ