डाउनलोड मुद्रण

अ+   अ-

कविता

अब ?
सुमित पी.वी.


 

पेड़ काट कर घर बनाया
घर के बल पर परिवार बसाया
परिवार के बल पर बाल बच्चे
पैदा किए
घर-परिवार-बाल-बच्चे
अब?


End Text   End Text    End Text

हिंदी समय में सुमित पी.वी. की रचनाएँ



अनुवाद