महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदीविश्वविद्यालय, वर्धा द्वारा प्रस्तुत

'कविता शती' श्रृंखला में

कविता शती - 1

(नरेश मेहता, नेमिचंद्र जैन, शिवमंगल सिंह 'सुमन', कीर्ति चौधरी, अजित कुमार, कुँवर नारायण, विष्णु खरे, विनोद कुमार शुक्ल, चंद्रकांत देवताले, आलोकधन्वा,लीलाधर जगूड़ी, नरेश सक्सेना, अजीत चौधरी, ज्ञानेंद्र पति, विनय दूबे, उदयन वाजपेयी, शिरीष ढोबले और गगन गिल द्वारा कविता पाठ)

कविता शती - 2

(कीर्तिचौधरी, अजित कुमार, कुँवर नारायण, भगवत रावत, रमेशचंद्र शाह और श्रीराम वर्माद्वारा कविता पाठ)

कविता शती - 3

(विष्णु खरे, विनोद कुमार शुक्ल, चंद्रकांत देवताले, नंदकिशोर आचार्य, रमेश दत्त दुबे और प्रयाग शुक्ल द्वारा कविता पाठ)



कुँवर नारायण पर के. बिक्रम सिंह की वीडियो कृति
      अभी बाकी हैं कुछ पल

मृणाल पांडे की कहानी 'लड़कियाँ' सुनिए प्रीति सागर की आवाज में



अज्ञेय पर नीलिमा तथा प्रमोद माथुर द्वारा निर्मित
वृत्तचित्र :
सन्नाटे का छंद

(ओम थानवी के सौजन्य से प्राप्त)

कमलेश्वर का उपन्यास : कितने पाकिस्तान

इस बार सुनें कथाकार नवनीत मिश्र की आवाज में प्रसिद्ध लेखक कमलेश्वर का साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित उपन्यास - कितने पाकिस्तान। यह ऑडियो कृति दृष्टि-बाधित लोगों के सुनने के लिए लखनऊ की संस्था रिहैबिलिटेशन सोसायटी ऑफ दी विजुअली इंपेअर्ड (आरएसवीआइ) द्वारा विशेष रूप से तैयार की गई है।

मुहावरे

हिंदी के मुहावरों का सही प्रयोग समझाने के लिए बनाई गई इस लघु फीचर फिल्म का निर्देशन किया है महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा में नाट्यकला एवं फिल्म अध्ययन विभाग के सहायक प्रोफेसर रयाज हसन ने। पटकथा विश्वविद्यालय के साहित्य विद्यापीठ में सहायक प्रोफेसर रूपेश कुमार की है। फिल्म देखने के लिए यहाँ क्लिक करें।

प्रेमचंद की कहानी 'बड़े भाई साहब' पर आधारित महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा द्वारा निर्मित तथा रयाज हसन, सहायक प्रोफेसर, नाट्यकला एवं फिल्म अध्ययन विभाग। द्वारा निर्देशित फिल्म देखने के लिए यहाँ क्लिक करें


मूल कहानी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

सुधा अरोड़ा की कहानी " अन्नपूर्णा मंडल की आखिरी चिट्ठी " प्रीति सागर की आवाज में सुनें ।
मूल कहानी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें