hindisamay head
डाउनलोड मुद्रण

अ+ अ-

कविता

ठिठुरती
स्नेहमयी चौधरी


इस ठंड में न चौकीदार की सीटी,
न बिल्ली की माँउ, न कुत्ते का भौंकना...
केवल ठिठुरती मैं ।


End Text   End Text    End Text

हिंदी समय में स्नेहमयी चौधरी की रचनाएँ