डाउनलोड मुद्रण

अ+   अ-

कविता

किसी के गीत को लक्षित
हेलेन सिनर्वो

अनुवाद - रति सक्सेना


तुम कैसे जानोगे
कि आग क्या है
एक भिड़ंत, एक
टेढ़ा मेढ़ा चेहरा

वह कार में बैठ गई
अपनी बहन के लिए
काफी देर रोते हुए
कूल्हे सड़ने लगे

तुम कैसे जानोगे
सड़न क्या होती है
चाँद, एक जगह रुका हुआ
दो को इंगित करता हुआ

वह रेलगाड़ी में बैठी
बहन के लिए रोई
काफी देर तक जब तक
कि पटरियों में जंग लगने लगी

तुम क्या जानोगे
इंतजार क्या होता है
दिन ढल गए
'काल' कट गई

 


End Text   End Text    End Text