डाउनलोड मुद्रण

अ+   अ-

कविता

मेरी माँ के लिए
एडगर ऐलन पो

अनुवाद - सरिता शर्मा


क्योंकि मुझे लगता है कि, ऊपर स्वर्ग में,
आपस में फुसफुसाते स्वर्गदूत,
नहीं पा सकते, उनके प्यार के प्रज्वलित शब्दों के बीच,
"माँ" जितना कोई अनुरागी शब्द
इसलिए आपको उस प्यारे नाम से
मैंने बहुत पहले पुकारा था -
आप जो मेरी माँ से बढ़कर हैं मेरे लिए
और मेरे अंतरतम को भर देती हैं,
जहाँ मृत्यु ने स्थापित कर दिया आपको
मेरी वर्जीनिया की आत्मा को मुक्त करने हेतु।
मेरी माँ - मेरी अपनी माँ, जिनकी मृत्यु जल्दी हो गई,
सिर्फ मेरी माँ थी; मगर आप,
उसकी माँ थी जिससे मैंने बेहद प्रेम किया
और इस तरह ज्यादा प्रिय हैं उस माँ से जिसे मैं जानता था
उस अनंतता के चलते जिससे मेरी पत्नी
प्रिय थी मेरी आत्मा को उसकी अपनी आत्मा -
जीवन से कहीं ज्यादा।

 


End Text   End Text    End Text

हिंदी समय में एडगर ऐलन पो की रचनाएँ