डाउनलोड मुद्रण

अ+   अ-

कविता

उत्तर
एरिश फ्रीड

अनुवाद - प्रतिभा उपाध्याय


कहा किसी ने
पत्थरों से :
बनो मानवीय,

पत्थर बोले :
हैं नहीं अभी हम
पर्याप्त कठोर


End Text   End Text    End Text

हिंदी समय में एरिश फ्रीड की रचनाएँ