डाउनलोड मुद्रण

अ+   अ-

लेख

अमृतलाल नागर : जीवन-वृत्त
शरद नागर


नाम : अमृतलाल नागर

जन्‍म तिथि : गुरुवार भाद्रपद कृष्‍ण चतुर्थी (बहुला चौथ), वि.सं. 1973, तदनुसार 17 अगस्‍त, 1916 ई.

जन्‍म स्‍थान : गोकुलपुरा, आगरा (ननिहाल में)

पिता : राजाराम नागर

माता : विद्यावती नागर

शिक्षा : हाई स्‍कूल (1934)

प्रथम रचना : दिसंबर, 1928 में आनंद पाक्षिक में प्रकाशित कविता

विवाह : प्रतिभा (मूल नाम सावित्री देवी ऊर्फ बिट्टो) के साथ 31 जनवरी, 1932

नौकरी : 'आल इंडिया यूनाइटेड एश्‍योरेन्‍स कंपनी' के लखनऊ कार्यालय में 18 दिनों तक डिस्‍पैचर की नौकरी की। सन 1939 में नवलकिशोर प्रेस के प्रकाशन विभाग तथा माधुरी के संपादकीय विभाग में अवैतनिक सेवा। 7 दिसंबर, 1953 से 31 मई 1956 तक आकाशवाणी, लखनऊ में ड्रामा प्रोड्यूसर के पद पर कार्य किया, किंतु साहित्यिक कार्यों में नौकरी को बाधा मानकर त्‍यागपत्र दे दिया।

फिल्‍मों में : सन 1940 से 1947 ई. तक मुंबई (बंबई), कोल्‍हापुर तथा चेन्‍नई (मद्रास) के फिल्‍मोउद्योग में पटकथा एवं संवाद लेखन।

स्‍वतंत्र लेखक : 1948 से लखनऊ में रहकर स्‍वतंत्र लेखन।

भाषाओं की जानकारी : हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, मराठी तथा बाँगला भाषाओं पर अधिकार और तमिल भाषा का भी थोड़ा-बहुत ज्ञान।

मानद पद

1. भारतीय जननाट्य संघ के अध्‍यक्ष मंडल में (1947)

2. इंडो-सोवियत सांस्‍कृतिक संघ की राष्‍ट्रीय समिति के सदस्‍य (1961-62)

3. इंडो-सोवियत सांस्‍कृतिक संघ की उत्तर प्रदेश शाखा के महामंत्री (1966-68)

4. अध्‍यक्ष, हिंदी समिति, उत्तर प्रदेश (1973-76)

5. उपाध्‍यक्ष, कार्यकारी अध्‍यक्ष, उत्तरप्रदेश संगीत नाटक अकादमी (1974-79)

6. सदस्‍य, सलाहकार समिति, आकाशवाणी, लखनऊ (1974-79)

7. सदस्‍य (कार्यकारिणी), उत्तरप्रदेश हिंदी संस्‍थान

इनके अतिरिक्‍त साहित्‍य अकादेमी, नई दिल्‍ली, उत्तरप्रदेश हिंदी ग्रंथ अकादमी, लखनऊ, हिंदुस्‍तानी एकेडेमी, प्रयाग तथा नागरी प्रचारिणी सभा, काशी आदि अनेक संस्‍थाओं से संबद्ध रहे हैं।

विदेश भ्रमण

1. वर्ष 1962 में सोवियत संघ का सांस्‍कृतिक भ्रमण।

2. वर्ष 1976 में द्वितीय विश्‍व हिंदी सम्‍मेलन में भाग लेने के लिए मॉरीशस यात्रा।

पुरस्‍कार-सम्‍मान

1. 'बूँद और समुद्र' पर काशी नागरी प्रचारिणी सभा का विक्रम संवत 2015 से 2018 तक का बटुक प्रसाद पुरस्‍कार एवं सुधाकर पदक।

2. 'सुहाग के नूपुर' पर उत्तरप्रदेश शासन का वर्ष 1962-63 का प्रेमचंद पुरस्‍कार।

3. 'अमृत और विष' पर वर्ष 1970 का सेवियत लैंड नेहरू पुरस्‍कार।

4. वर्ष 1967 का 'अमृत और विष' पर साहित्‍य अकादेमी पुरस्‍कार।

5. 'मानस का हंस' पर मध्‍य प्रदेश शासन साहित्‍य परिषद का वर्ष 1972 का अखिल भारतीय वीरसिंह देव पुरस्‍कार।

6. 'मानस का हंस' उत्तर प्रदेश शासन का वर्ष 1973-74 का राज्‍य साहित्यिक पुरस्‍कार

7. हिंदी रंगमंच की विशिष्‍ट सेवा हेतु सन 1970-71 का उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी पुरस्‍कार।

8. उत्तर प्रदेशीय हिंदी साहित्‍य सम्‍मेलन, प्रयाग द्वारा साहित्‍य वारिधि उपाधि से विभूषित (सन 1972)

9 . आकाशवाणी की स्‍वर्ण जयंती के अवसर पर विशेष सम्‍मान (1977)

10. 'मानस का हंस' पर श्री. रामकृष्‍ण हरजीमल डालमिया पुरस्‍कार (1978)

11. उत्तर प्रदेश हिंदी-संस्‍थान का विशिष्‍ट पुरस्‍कार (1979-80)

12. राष्‍ट्रपति द्वारा पद्मभूषण उपाधि से सम्‍मानित (1981)

13. 'खंजन नयन' पर भारतीय भाषा, कलकत्ता (कोलकाता) का वर्ष 1984 का नथमल भुवालका पुरस्‍कार।

14. लखनऊ महोत्‍सव समिती द्वारा अवध गौरव सम्‍मान से अलंकृत (1986)

15. फिल्‍म राइटर्स एसोसिएशन, बंबई (मुम्‍बई) द्वारा सम्‍मान एवं मानद सदस्‍यता (1987)

16. राजभाषा परिषद, बिहार सरकार द्वारा विशिष्‍ट साहित्यिक योगदान हेतु डॉ. राजेंद्र प्रसाद शिखर सम्‍मान (1988)

17. साहित्‍य अकादेमी, नई दिल्‍ली द्वारा महत्तर सदस्‍यता (1989)

18. उ.प्र. उर्दू हिंदी अवार्ड कमेटी द्वारा सम्‍मानित (1989)

19. वर्ष 1985 का उ.प्र. हिंदी संस्‍थान का सर्वोच्‍च भारत भारती सम्‍मान (22 दिसंबर, 1989 को प्रदत्त) ।

20. हिंदी साहित्‍य सम्‍मेलन, प्रयाग द्वारा साहित्‍य वाचस्‍पति उपाधि से विभूषित।

निधन : शुक्रवार, फाल्‍गुन, कृष्‍ण 13 (महाशिवरात्रि), वि.सं. 2046 तदनुसार 23 फरवरी, 1990 ई.


End Text   End Text    End Text