hindisamay head
डाउनलोड मुद्रण

अ+ अ-

कविता

औरतों को परामर्श
यूनिस डी सूज़ा

अनुवाद - ममता जोशी


बिल्ली पालो!
अगर तुम्हें प्रेमियों की भिन्नता को झेलना है
भिन्नता का अर्थ लापरवाही नहीं है
बिल्लियाँ आखिर शौच के लिए
एक निश्चित स्थान पर रक्खे बरतन की ओर ही जाती है
अपने दुश्मनों को खिड़की से
वे कभी चुनिंदा गालियाँ नही देतीं
गहरी, हरी आँखों में उनकी
अविरल आश्चर्य का भाव बना रहता है
बिल्लियों की इस हैरानी भरी अभिव्यक्ति से
तुम्हें अकेले मरने की ताकत मिलेगी।


End Text   End Text    End Text