hindisamay head
डाउनलोड मुद्रण

अ+ अ-

कविता

हिट होने के कुछ हिट फंडे
कुमार अनुपम


गाने के   लिखने के

कुछ मसौदे थे पूर्वापर

कि गाने के लिखने के बीच का संबंध

किसी अनुबंध का नहीं था तलबगार

 

गाने के   लिखने के   कूल्हे मटकाने के

बीच कुछ समझौता था ईरान इराक की तरह होड़ लेता हुआ

                                                                           अमेरिका था

 

गाने के   लिखने के   कूल्हे मटकाने के   मस्त होने के

कुछ लगातार चढ़ते ढहते सेंसक्स थे बौखलाए

 

गाने के   लिखने के   कूल्हे मटकाने के   मस्त होने के   रत होने के...

कई संध थे बेकरार कि ‘सेक्सी सेक्सी सेक्सी मुझे लोग बोलें’

का सहमत नारा लगवाने को कुछ ऐसा

कि नसों की तड़क सुनी जा सके सात समुंदर पार

 

क्या यह

चित्रपट के अघोषित दृश्य भर हैं बंधुवर?

 

मिलेनियम सभ्यता की आरती के अंतरे

बीच जिनके मुझ जैसा टुटपूँजिया गँवार

भला हाँफने के सिवा क्या कर सकता है!


End Text   End Text    End Text

हिंदी समय में कुमार अनुपम की रचनाएँ