डाउनलोड मुद्रण

अ+ अ-

कविता

सीख
राजकुमार कुंभज


उस एक
लोडिंग रिक्शा से भी
कुछ न कुछ
सीखता हूँ मैं
जिसके पीछे लिखा है
"एक न एक दिन
बनूँगा ट्रक"

 


End Text   End Text    End Text

हिंदी समय में राजकुमार कुंभज की रचनाएँ