hindisamay head
डाउनलोड मुद्रण

अ+ अ-

कविता

एक गहरा द्वंद्व है
मोहन सगोरिया


अपनी नींद पूरी करते कारतूस
रायफल में पसरे पड़े हैं
बंकर में हथियारबंद सैनिक

नींद और जगराते के बीच एक गहरा द्वंद्व है
जिसकी वजह से कई सपने कत्ल होने की आशंका में

चूँकि सपनों को नींद की दरकार हमेशा रही
इसलिए उनकी जय अवश्यंभावी है

सभी जानते हैं कि बंकर में घना अंधकार व सन्नाटा है\
और सन्नाटे में नींद का स्वप्न सुबक रहा।

 


End Text   End Text    End Text

हिंदी समय में मोहन सगोरिया की रचनाएँ