hindisamay head
डाउनलोड मुद्रण

अ+ अ-

कविता

भूख के खिलाफ
अरविंद कुमार खेड़े


गरीबी
बचपन से ही
करती है युद्ध का अभ्यास
बिना अस्त्र-शस्त्र के
सीखती है
युद्ध की कला-बाजियाँ
युद्ध की बारीकियाँ
युद्ध के दाँव-पेंच
युद्ध की कूटनीति
भूख के खिलाफ
गरीबी इतनी आसानी से
हारती नहीं है।


End Text   End Text    End Text