डाउनलोड मुद्रण

अ+ अ-

कविता

टोपी
नरेश अग्रवाल


तरह-तरह की टोपियाँ
हमारे देश में
सबका एक ही काम
सिर ढकना
- नहीं एक और काम
विभाजित करना
लोगों को
अलग-अलग समुदायों में।


End Text   End Text    End Text

हिंदी समय में नरेश अग्रवाल की रचनाएँ