hindisamay head
डाउनलोड मुद्रण

अ+ अ-

कविता

व्यवस्था
उदय प्रकाश


दोस्त चिट्ठी में
लिखता है -
'मैं सकुशल हूँ।'

मैं लिखता हूँ -
'मैं सकुशल हूँ।'

दोनों आश्चर्यचकित हैं।


End Text   End Text    End Text

हिंदी समय में उदय प्रकाश की रचनाएँ



अनुवाद