hindisamay head
डाउनलोड मुद्रण

अ+ अ-

कविता

लोगों की नजर में
आरसी चौहान


लोगों की नजर में
तुमने मुझे पेड़ कहा
पेड़ बना
टहनी कहा
टहनी बना
पत्तियाँ कहा
पत्तियाँ बना
फूल कहा
फूल बना
तुमने कहा
काँटा बनने के लिए
काँटा भी बना
जबसे लोगों की नजर में
बना हूँ काँटा
नहीं बन पा रहा हूँ अब
लोगों की नजर में
फूल पत्ती टहनी और पेड़।


End Text   End Text    End Text