hindisamay head
डाउनलोड मुद्रण

अ+ अ-

कविता

जय बोलो भाई
शीलेंद्र कुमार सिंह चौहान


नेता जी की जय बोलो भाई
           नेता जी की जय।

नेता जी जो कहें करें तो
           सब कुछ अच्छा है
वरना डीएम, एसपी का भी
           उतरा कच्छा है,
अफसर शाही पर हावी है
           हर पल उनका भय।

बड़े बड़ों को थाने जाना
           मुश्किल लगता है
पर थाने पर नेता जी का
           सिक्का चलता है,
छोड़ो, बंद करो का अक्सर
           लेते वो निर्णय।

नाव, नदी दोनों पर उनका
           शासन चलता है
जेब भरी हो जिसकी वो ही
           पार उतरता है,
धन बल के बल पर चुनाव में
           मिलती उन्हें विजय।

अपनों को ठेका दिलवाना
           उनका धंधा है
मनमाफिक ले रहे कमीशन
           राजा अंधा है,
प्रजातंत्र में और न कोई
           उनसा है निर्भय।


End Text   End Text    End Text