आइए पढ़ते हैं : स्वामी सहजानन्द सरस्वती रचनावली :: पहला खंड
धरोहर ललित निबंध पर एकाग्र समकालीन
 

प्रताप नारायण मिश्र
भौं
देशी कपड़ा
रसिक समाज
पौराणिक गूढ़ार्थ
मित्र कपटी भी बुरा नहीं होता


हजारी प्रसाद द्विवेदी
देवदारु
अशोक के फूल
आम फिर बौरा गए
भीष्म को क्षमा नहीं किया गया
शिरीष के फूल


सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’
भारतीयता
वासुदेव प्याला
संस्कृति और परिस्थिति
कला का स्वभाव और उद्देश्य
रूढ़ि और मौलिकता


धर्मवीर भारती
ठेले पर हिमालय
काले पत्थर की अँगूठी
क्षणों की अथाह नीलिमा
आधी रात : रेल की सीटी
काऊ बेल्ट की उपकथा


विद्यानिवास मिश्र
छितवन की छाँह
तुम चंदन हम पानी
कँटीले तारों के आर-पार
मेरे राम का मुकुट भीग रहा है
हल्दी-दूब और दधि-अच्छत


निर्मल वर्मा
आदि और अंत
पूर्व और पश्चिम
धर्म और धर्मनिरपेक्षता
मेरे लिए भारतीय होने का अर्थ
नर्मदा : एक सांस्कृतिक परिक्रमा


कृष्ण बिहारी मिश्र
मकान उठ रहे हैं
फगुआ की तलाश में
बेहया का जंगल और नई-नई घेरान
सइयाँ के जाए न देबों बिदेसवा
खोंइछा गमकत जाइ


संपादकीय
अरुणेश नीरन
ललित निबंध और हिंदी गद्य

ललित निबंध : एक ललित यात्रा
भारतेंदु हरिश्चंद्र
एक अद्भुत अपूर्ण स्वप्न

फणीश्वरनाथ रेणु
ईश्वर रे, मेरे बेचारे...!

बालमुकुंद गुप्त
आशीर्वाद

चंद्रधर शर्मा ‘गुलेरी’
मारेसि मोहिं कुठाँउ...

रामचंद्र शुक्ल
भय

रामवृक्ष बेनीपुरी
गेहूँ बनाम गुलाब

सरदार पूर्ण सिंह
आचरण की सभ्यता

वियोगी हरि
विश्व-मंदिर

महादेवी वर्मा
सोना हिरनी

राममनोहर लोहिया
कृष्ण

भगवत शरण उपाध्याय
सूना

रामविलास शर्मा
अतिथि

पांडेय बेचन शर्मा ‘उग्र’
धरती और धान

भदंत आनंद कौसल्यायन
रेल का टिकट

हरिशंकर परसाई
आँगन में बैगन

सियारामशरण गुप्त
घोड़ाशाही

राहुल सांकृत्यायन
अथातो घुमक्कड़-जिज्ञासा

कुबेर नाथ राय
उत्तराफाल्गुनी के आसपास

पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी
वृद्धावस्था

कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकर
शरद पूर्णिमा की खिलखिलाती रात में

कामता प्रसाद सिंह ‘काम’
मेरी जेब

देवेंद्रनाथ शर्मा
कृपया गंदा मत कीजिए

ठाकुर प्रसाद सिंह
इतिहास को छोटा करने की कला

रघुवीर सहाय
मौन

माखन लाल चतुर्वेदी
साहित्य-देवता

विवेकी राय
अंतरिक्ष-युग की ‘माता मइया’

शिवप्रसाद सिंह
रसमादन


नामवर सिंह
मदन महीपजू को बालक बसंत

रामदरश मिश्र
बबूल और कैक्टस

रमेश चंद्र शाह
आड़ू का पेड़

राधावल्लभ त्रिपाठी
भारतीय कथा परंपरा

श्रीराम परिहार
शब्द-शब्द झरते अर्थ
निर्जन में रमता जोगी
माँ की लोरी रस की गागर
कहाँ से शुरू हुए; कहाँ पहुँचे

श्यामसुंदर दुबे
जल को मुक्त करो
ऋतु-पावस नियरानी
ग्रीष्म की दोपहरी और मेरा मृग-अनुभव
पीपर तरु तर ध्यान सो धरई
नए पुल पर पहली बार

बुद्धिनाथ मिश्र
फूल आए हैं कनेरों में

अजयेंद्रनाथ त्रिवेदी
बड़का जामुन

संपादकीय सूचना

संरक्षक
प्रो. गिरीश्‍वर मिश्र
(कुलपति)

संपादक
अरुणेश नीरन
फोन - 07743886879,09451460030
ई-मेल : neeranarunesh48@gmail.com

प्रबंध संपादक
डॉ. अमित कुमार विश्वास
फोन - 09970244359
ई-मेल : amitbishwas2004@gmail.com

सहायक संपादक
मनोज कुमार पांडेय
फोन - 08275409685
ई-मेल : chanduksaath@gmail.com

संपादकीय सहयोगी
तेजी ईशा
फोन - 09096438496
ई-मेल : tejeeandisha@gmail.com

भाषा अनुषंगी (कंप्यूटर)
गुंजन जैन
फोन - 09595212690
ई-मेल : hindisamaymgahv21@gmail.com

विशेष तकनीकी सहयोग
अंजनी कुमार राय
फोन - 09420681919
ई-मेल : anjani.ray@gmail.com

गिरीश चंद्र पांडेय
फोन - 09422905758
ई-मेल : gcpandey@gmail.com

हेमलता गोडबोले
फोन - 09890392618
ई-मेल : hemagodbole9@gmail.com

आवश्यक सूचना

हिंदीसमयडॉटकॉम पूरी तरह से अव्यावसायिक अकादमिक उपक्रम है। हमारा एकमात्र उद्देश्य दुनिया भर में फैले व्यापक हिंदी पाठक समुदाय तक हिंदी की श्रेष्ठ रचनाओं की पहुँच आसानी से संभव बनाना है। इसमें शामिल रचनाओं के संदर्भ में रचनाकार या/और प्रकाशक से अनुमति अवश्य ली जाती है। हम आभारी हैं कि हमें रचनाकारों का भरपूर सहयोग मिला है। वे अपनी रचनाओं को ‘हिंदी समय’ पर उपलब्ध कराने के संदर्भ में सहर्ष अपनी अनुमति हमें देते रहे हैं। किसी कारणवश रचनाकार के मना करने की स्थिति में हम उसकी रचनाओं को ‘हिंदी समय’ के पटल से हटा देते हैं।
ISSN 2394-6687

हमें लिखें

अपनी सम्मति और सुझाव देने तथा नई सामग्री की नियमित सूचना पाने के लिए कृपया इस पते पर मेल करें :
hindeesamay@gmail.com